लेकिन पुलिस ने भारतीय छात्रों पर केस दर्ज किया

शिमला.

एपीजी यूनिवर्सिटी में कुछ दिन पहले हुए अफगानी और भारतीय छात्रों के बीच की खूनी झड़प की सीसीटीवी फुटेज सामने आई है। इस सीसीटीवी फुटेज में अफगानी छात्र भारतीय छात्रों पर हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं। हालांकि 31 अगस्त को हुए इस हंगामें में भारतीय छात्रों को ही आरोपी बनाया गया है। लेकिन इस फुटेज के आने के बाद मामला उल्टा दिखाई दे रहा है। इसमें अफगानी छात्र डंडे, रॉड और पत्थरों से हमला करते हुए दिखाई दे रहे हैं। यह वीडियो 30 अगस्त की सुबह 11 बजकर 20 मिनट का है।

इस वीडियों में भारतीय छात्र एपीजी के गेट की तरफ से आ रहे हैं जबकि अफगानी छात्र विश्वविद्यालय परिसर के भीतर से निकलते हुए दिख रहे हैं। इस सीसीटीवी फुटेज से साफ दिखाई दे रहा है कि अफगानी छात्र भी लड़ाई में बराबर शामिल हैं। लेकिन इस मामले में शिमला पुलिस ने भारतीय छात्रों पर ही केस दर्ज किया है।पुलिस ही नहीं इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने भी एक तरफा कार्रवाई करते हुए केवल भारतीय छात्रों के नाम ही पुलिस को दिए थे। इन छात्रों के खिलाफ एपीजी यूनिवर्सिटी के बॉक्सिंग कोच ने ही गवाही दी है जबकि छात्रों के मुताबिक बॉक्सिंग कोच ने ही भारतीय छात्रों को विवि परिसर में बुलाया था। ऐसे में लग यही रहा है कि एपीजी प्रशासन और पुलिस अफगानी छात्रों को बचाने का प्रयास कर रहे हैं क्योंकि इस विवि में बहुत से विदेशी छात्र अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आते हैं।

इस मामले में विवि के डीएसडब्ल्यू यानी कि डीन स्टूडेंट वेलफेयर को दिए गए आवेदन में भारतीय छात्रों ने बॉक्सिंग कोच की शिकायत भी की है। यह कोच ही हॉस्टल का वॉर्डन है। भारतीय छात्रों ने कहा है कि बाक्सिंग कोच ने 30 अ्गस्त की सुबह उन्हें फोन किया और कहा कि आप लोगों का हॉस्टल को लेकर कुछ विवाद है तो यूनिवर्सिटी में आकर मिलो। इनका आरोप है कि हॉस्टल के वॉर्डन के कहने पर ही भारतीय छात्र कैंपस में आए लेकिन जैसे ही वे गेट के अंदर पहुंचे तो बॉक्सिंग कोच ने भारतीय छात्रों की ओर इशारा किया और इसके बाद अफगानी छात्र मारपीट पर उतर आए। इसमें चार भारतीय छात्रों को गंभीर चोट आईं लेकिन फिर भी कोच ने भारतीय छात्रों के खिलाफ गवाही देकर उन पर केस दर्ज करा दिया है।

निजी विवि है एजीपी यूनिवर्सिटी

एजीपी विवि शिमला की एक निजी यूनिवर्सिटी है। कुछ दिन पहले यहां पर पढ़ने वाले एक बांग्लादेशी छात्र ने आत्महत्या कर ली थी। इस छात्र ने प्रेम में असफल होने पर फांसी लगा ली थी। इस विवि में बड़ी संख्या में अफगानी और बांग्लादेशी छात्र पढ़ते हैं। हालांकि हिमाचल प्रदेश में मुस्लिम जनसंख्या भारत में सबसे कम है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *