कोलकाता

जाधवपुर विश्वविद्यालय की ओर जा रही अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) की रैली को रोकने के लिए पुलिस ने सोमवार को लाठी चार्ज किया। इससे गुस्साए एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने पुलिस अधिकारियों पर पथराव किया और अवरोधकों को तोड़ने का प्रयास किया।


जाधवपुर विश्‍वविद्यालय परिसर में केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो पर गत 19 सितंबर को हुए कथित हमले के खिलाफ एबीवीपी ने दक्षिण कोलकाता में गरियाहाट क्षेत्र से रैली निकाली। कार्यकर्ताओं ने बताया कि एबीवीपी के कार्यकर्ता जैसे ही जोधपुर पार्क पहुंचे तो पुलिस ने सड़क पर बैरिकेड लगाकर उन्हें रोक लिया। इसके बाद कार्यकर्ताओं और पुलिस अधिकारियों के बीच रैली निकालने को लेकर विवाद हुआ।


इसके बाद पुलिस ने लाठी चार्ज शुरू कर दिया। बाद में पुलिस कर्मियों ने एबीवीपी छात्रों को रोकने की कोशिशें करनी शुरू कर दी। घोषणा की जा रही थी कि अगर छात्र पत्थर फेकेंगे तो रैली को गैरकानूनी घोषित किया जाएगा। छात्र अगर चाहें तो बैरिकेडिंग के अंदर रहकर विरोध प्रदर्शन कर सकते हैं। इसके बाद छात्र सड़क पर ही बैठ कर ममता बनर्जी, पुलिस व वामपंथियों के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। एबीवीपी का कहना था कि प्रशासन की मिलीभगत से बाबुल सुप्रियो पर योजनाबद्ध तरीके से हमला हुआ है।

एबीवीपी की रैली को रोकने के लिए विश्वविद्यालय के गेट पर एसएफआई के छात्रों ने भी विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था। उनके साथ विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार व प्रोफेसर भी मौजूद थे। हालांकि इसके लिए शिक्षकों के संगठन जूटा के महासचिव प्रार्थप्रतिम रॉय ने कहा कि छात्रों के बीच कोई टकराव ना हो। अथवा किसी तरह की उकसावे वाली गतिविधि ना हो, इसलिए शिक्षक भी इनके बीच मौजूद हैं। गौरतलब है कि बाबुल सुप्रियो को जाधवपुर विश्‍वविद्यालय के छात्रों ने कई घंटों तक रोके रखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *