6th December 2022

19 महीने में 140 मंदिरों पर हमला, ये पाकिस्तान नहीं आंध्र प्रदेश है

भाजपा सांसद ने राज्यसभा में उठाया मामला

नई दिल्ली.

19 महीने में 140 हिन्दू मंदिरों पर हमले तथा मूर्तियां अपवित्र करने के मामले। खास बात यह है कि यह सबकुछ भारत में ही हो रहा है। उससे भी खास बात ये है कि जिस आंध्र प्रदेश में यह सब कुछ हो रहा है, वहां के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्‌डी और उनकी पार्टी केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार को कईं अवसरों पर लोकसभा और राज्यसभा में समर्थन देती रही है। लेकिन यह मामला अब भी उतना तूल पकड़ पाया है।

गुरूवार को राज्यसभा सांसद जीवीएल नरसिम्हाराव ने इस मामले को उठाया और  दावा किया कि पिछले 19 महीनों में आंध्र प्रदेश में हिन्दू मंदिरों  (Hindu Temples) पर हमले, उन्हें तोड़ने व मूर्तियों को अपवित्र करने और इसी प्रकार के अपराधों से संबंधित 140 मामले सामने आए हैं। राव का कहना है कि राज्य की पुलिस इन मामलों को गंभीरता से नहीं ले रही है।

खास बात यह है कि राज्य के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्‌डी इसाई हैं और उन पर अकसर इसाईयों के पक्ष में काम करने के आरोप लगते रहे हैं।

दिसंबर में तोड़ी गई भगवान राम की 400 साल पुरानी मूर्ति

31 दिसंबर को आंध्र प्रदेश के विजयनगर में रामतीर्थम मंदिर में भगवान राम की 400 साल पुरानी मूर्ति को कुछ अज्ञात लोगों ने खंडित कर दिया था । मंदिर के पुजारी ने बताया कि साफ-सफाई के दौरान मंदिर का ताला टूटा हुआ था और भगवान राम की मूर्ति को खंडित कर दिया गया था। मूर्ति के सिर का हिस्सा गायब था। टूटा हुआ हिस्सा मंदिर परिसर के टैंक में पाया गया।

इसके बाद इस मामले को लेकर भाजपा नेता सुनील देवधर ने कहा था कि ऐसा लग रहा है कि आंध्र प्रदेश में हिंदू मंदिरों पर हो रहे लगातार हमले 16वीं सदी के गोवा में क्रूर सेंट जेवियर के हमलों की याद दिला रहे हैं जिसने मंदिरों को ढहा दिया था, जिसने जबरदस्ती धर्मांतरण करवाए थे।

रामतीर्थम की क्षतिग्रस्त प्रतिमा

दिखावे के लिए बनी एसआईटी

इस मामले को राज्यसभा में उठाते हुए जीवीएल नरसिम्हाराव ने कहा कि इस तरह के मामले सामने आने के बाद प्रदेश सरकार ने दिखावे के लिए विशेष जांच दल यानी एसआईटी का गठन किया है। इसका उद्देश्य इन हमलों के दोषियों को पकड़ना नहीं बल्कि इन हमलों से हिन्दुओं के बीच जो गुस्सा बढ़ रहा है , उसे ठंड़ा करना है।

1 thought on “19 महीने में 140 मंदिरों पर हमला, ये पाकिस्तान नहीं आंध्र प्रदेश है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!