Goonj

Voice of the Students of India

अब बीएचयू में पढ़ाएंगी मिसेस अंबानी, मिसेस अडानी और मिसेस मित्तल…!

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के समाज समाज विज्ञान विभाग द्वारा अंबानी, अड़ानी और लक्ष्मीनिवास मित्तल की पत्नी को विजिटिंग फैकल्टी के लिए प्रस्ताव देने की खबर

बनारस

देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (BHU) में उद्योगपति मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी (Nita Ambani) के विजिटिंग फेकल्टी बनने की खबर है लेकिन न्यूज वेबसाइट द वायर के अनुसार बीएचयू में इनके साथ ही उद्योगपति गौतम अडानी की पत्नी प्रीति अड़ानी (Priti Adani) भारतीय मूल के ब्रिटिश उद्योगपति लक्ष्मी मित्तल की पत्नी उषा मित्तल (Usha Mittal) को भी विजिटिंग फैकल्टी बनाने का प्रस्ताव दिया गया है। द वायर ने बीएचयू के समाज कल्याण विभाग के अधिकारी के हवाले से लिखा है कि विभाग ने नीता अंबानी सहित तीन महिलाओं को विजिटिंग फैकल्टी बनने का प्रस्ताव दिया है।

द वायर ने लिखा है कि

रिपोर्ट के अनुसार, इस तरह का प्रस्ताव अभी सिर्फ नीता अंबानी के पास भेजा गया है, लेकिन विश्वविद्यालय के सामाजिक विज्ञान विभाग से जुड़े अधिकारियों ने इस बात की पुष्टि की है कि बाकि के बचे दो विजिटिंग फैकल्टी पदों के लिए जिन नामों पर विचार किया गया है, उनमें से एक उद्योगपति गौतम अडाणी की पत्नी प्रीति अडाणी और दूसरी ब्रिटेन में भारतीय मूल के स्टील उद्यमी लक्ष्मी मित्तल की पत्नी उषा मित्तल हैं.

सामाजिक विज्ञान विभाग के डीन कौशल किशोर मिश्रा ने बताया, ‘स्नातक और परास्नातक कोर्स के साथ हम महिला सशक्तिकरण के लिए अकादमिक और शोध कार्य करते हैं। परोपकारी उद्योगपतियों को शामिल करने की बीएचयू परंपरा का अनुसरण करते हुए हमने रिलायंस फाउंडेशन को एक पत्र भेजकर नीता अंबानी के विजिटिंग प्रोफेसर बनने के बारे में पूछा है।’

विरोध शुरू

हालांकि फिलहाल सार्वजनिक रूप से केवल नीता अंबानी को प्रस्ताव दिए जाने की घोषणा की गई है। लेकिन इसके साथ ही बीएचयू में इस मामले को लेकर विरोध शुरू हो गया है। मंगलवार को 40 विद्यार्थियों ने कुलपित राकेश भटनागर के आवास के बाहर इस मामले को लेकर प्रदर्शन किया और ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन में शामिल रहे छात्र शुभम तिवारी ने कहा कि यह गलत उदाहरण है।

नीता अंबानी को बुलाने का विरोध कर रहे छात्र

यदि आपको महिला सशक्तीकरण के आधार पर किसी को बुलाना है तो किसी ऐसी महिला को बुलाया जाए जो खुद इसका उदाहरण हो। एक पूंजीपति की पत्नी को बुलाने का क्या औचित्य है? एक पूंजी पति की पत्नी होना कोई उपलब्धि नहीं है। यदि बुलाना ही है तो मैरी कॉम जैसी किसी महिला को बुलाया जाना चाहिए।

बीएचयू के समाज विज्ञान विभाग ने नीता अंबानी को प्रस्ताव भेजे जाने की पुष्टि की है लेकिन रिलायंस इंडस्ट्रीज के प्रवक्ता ने किसी तरह का प्रस्ताव मिलने से इनकार किया है।

error: Content is protected !!