7th December 2022

हिन्दू संगठन की आपत्ति पर मुस्लिम तहसीलदार का तबादला

मामला केरल का, त्रिवेंद्रम का तहसीलदार होता है स्वामी मंदिर का अधिकारी, इस आधार हिन्दू एक्य वेदी ने किया था विरोध

इस मंदिर में नहीं जा सकते गैर हिन्दू

त्रिवेन्द्रम.

हिन्दू संगठनों के बाद त्रिवेन्द्रम के मुस्लिम तहसीलदार का राज्य सरकार ने तबादला कर दिया है। संभव था कि भाजपा शासित राज्य में ऐसा होता तो यह बड़ी खबर होती लेकिन ऐसा वामपंथी शासित राज्य केरल में हुआ है। इस तहसीलदार की हाल ही में सरकार ने यहां नियुक्ति की थी। इस नियुक्ति का स्थानीय हिन्दू संगठन ने विरोध किया था।

हालांकि कहा जा रहा है कि कुछ समय पश्चात केरल में विधानसभा चुनाव भी होने हैं इसके चलते सरकार ने जनभावनाओं का आदर किया है। हटाए गए तहसीलदार का नाम के. अंसार है। अंसार को 4 फरवरी को ही त्रिवेन्द्रम भेजा गया था।

इसलिए हटाया

जिस पद पर अंसार की नियुक्ति की गई थी वहां का तहसीदार उस क्षेत्र के स्वामी मंदिर का भी पदेन कर्ता-धर्ता होता है। इस नाते से उसे मंदिर में होने वाले कईं आयोजनों में सम्मिलित होना होता है। वहीं केरल में कईं मंदिरों में गैर हिन्दुओं का प्रवेश निषेध है। इस आधार पर त्रिवेन्द्रम के एक हिन्दू संगठन हिंदू एक्य वेदी ने अंसार की नियुक्ति का विरोध किया था। इसके चलते राजस्व विभाग ने आठ फरवरी को अंसार का ट्रांसफर कर दिया। इस मंदिर में प्रतिवर्ष मार्च के महीने में एक बड़ा धार्मिक आयोजन होता है। इसके चलते राजस्व विभाग ने जल्दी ही अंसार का ट्रांसफर कर दिया।

केरल के मंदिर में होता है नियमों का पालन

केरल के मंदिरों में पूजा-पाठ और आयोजनों को लेकर कठोर नियमों का पालन होता है। कुछ साल पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वायलियार रवि के बेटे का विवाह समारोह एक मंदिर में हुआ था। रवि के बेटे का विवाह एक इसाई लड़की से हुआ था। विवाह के बाद जब मंदिर के पुजारी को इस बात का पता चला था, तो उन्हें वी रवि के परिवार को लोगों से मंदिर का शुद्धीकरण कराया था। नेता के परिवार ने उस समय मंदिर को धोया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!