29th November 2022

पाकिस्‍तान में ईद उल अजहा पर 40 लाख गायों की कुर्बानी

ईद पर ‘कुर्बान’ किए गए 400 अरब रुपये के 90 लाख पशु

इस्‍लामाबाद

इस बार पाकिस्‍तान में ईद उल अजहा के मौके पर 2.5 अरब डॉलर (400 अरब पाकिस्‍तानी रुपये ) मूल्‍य के 90 लाख पशुओं की कुर्बानी दी गई। इनमें 300 अरब रुपये की 40 लाख गायों की कुर्बानी भी शामिल है। चमड़े के निर्यातकों ने बताया कि पिछले साल की तुलना में इस साल 1 अरब डॉलर ज्‍यादा मूल्‍य के पशुओं की कुर्बानी दी गई।

ईद-उल-अजहा मुस्लिमों का दूसरा सबसे महत्‍वपूर्ण त्‍योहार है। बताया जा रहा है कि बड़ी संख्‍या में पाकिस्‍तानी सऊदी अरब हज के लिए नहीं जा सके, इस वजह से कुर्बानी की संख्‍या में काफी बढ़ोत्‍तरी हो गई।

अरब न्‍यूज पाकिस्‍तान की रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्‍तानी कोरोना वायरस प्रतिबंधों की वजह से हज के लिए सऊदी अरब नहीं जा पाए, इस वजह से उन्‍होंने अपने घर पर ही कुर्बानी दी। रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्‍तान में पिछले साल डेढ़ अरब डॉलर के पशुओं की कुर्बानी दी गई थी। एक पाकिस्‍तानी अधिकारी अदुल सलाम ने कहा, ‘हमारा अनुमान है कि 80 से 90 लाख पशुओं की ईद उल अजहा पर कुर्बानी दी गई है। इसमें गाय, भेड़, बकरी और ऊंट शामिल हैं।’

इससे ज्यादा भी हो सकती है संख्या

वहीं एक अन्‍य अनुमान में कहा गया है कि कुर्बान किए गए पशुओं की संख्‍या अनुमान से कहीं ज्‍यादा हो सकती है। खान ने कहा, ‘इस साल 30 से 40 लाख गायों की कुर्बानी दी गई। उन्‍होंने कहा क‍ि इतनी गायों की कीमत ही 300 अरब पाकिस्‍तानी रुपये होगी। इसके अलावा बकरियों, भेड़ों और ऊंटों की कुर्बानी दी गई।

इस कुर्बानी के दौरान काफी चमड़ा बर्बाद भी हो गया। ईद उल अजहा पर जितनी कुर्बानी दी जाती है, वह पाकिस्‍तान के चमड़ा उद्योग के कुल कच्‍चे माल का 20 से 30 फीसदी होता है। पाकिस्‍तान हर साल 25 अरब डॉलर के चमड़े के उत्‍पाद का निर्यात करता है।

1 thought on “पाकिस्‍तान में ईद उल अजहा पर 40 लाख गायों की कुर्बानी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!