24th April 2024

आप उज्जैन बहुत जाते हैं भोपाल में कम रहते हैं, पीएम मोदी ने मोहन यादव से कहा!

अंग्रेजी अखबार के रेसीडेंट एडिटर ने अपने कॉलम में लिखा

कहा जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने एक मुख्यमंत्री को अपने जिले के बाहर पूरे प्रदेश पर ध्यान देने को कहा है। यह खबर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है हालांकि मेनस्ट्रीम मीडिया में अभी इस तरह की कोई खबर नहीं है। खोजने पर पता चला है कि न्यू इंडियन एक्सप्रेस में इस तरह की खबर छपी है। न्यू इंडियन एक्सप्रेस इंडियन एक्सप्रेस समूह का ही एक भाग है। इस समूह की पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान है। इसके चलते इस खबर को आसानी से खारिज भी नहीं किया जा सकता।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस में कॉलम लिखने वाले शाहिद फरीदी ने अपने कॉलम पावर गेम्स में इसे लिखा है। उन्होंने अपने इस कॉलम को ट्वीट भी किया है । इसमें उन्होंने लिखा है कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने इंदौर लोकसभा सीट के लिए अपनी तरफ से एक नाम सुझाया। इस पीएम मोदी ने उनसे पूछा कि इस प्रत्याशी को क्यों टिकट दिया जाना चाहिए। इस पर सीएम यादव ने कहा कि वे मुख्यमंत्री के रूप में भोपाल रहते हैं और जिस प्रत्याशी का नाम वो सुझा रहे हैं, वो इंदौर के साथ साथ उज्जैन को भी संभाल लेगा। उन्होंने आगे कहा कि इस तरह से पार्टी पूरे मालवा क्षेत्र को संभाल सकेगी ।

कॉलम में लिखा है किसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोहन यादव से कहा कि वो बहुत ज्यादा उज्जैन जाते हैं और भोपाल में बहुत कम समय बिताते हैं। प्रधानमंत्री ने उनसे कहा कि इंदौर की चिंता करना बंद कर दें और जो जिम्मेदारी सौंपी गई है उस पर ध्यान दें। बताया गया कि इस पर मुख्यमंत्री यादव ने प्रधानमंत्री को इस बारे में स्पष्टीकरण देना की कोशिश की लेकिन प्रधानमंत्री ने उन्हें चुप कर दिया।

न्यूज़ अलजेब्रा नाम की वेबसाइट जिसका ट्वीटर यानी एक्स हैंडल टाइम्स एलजेब्रा के नाम से है, ने भी ट्विटर पर पोस्ट पर किया है। हालांकि इसमें किसी का नाम नहीं है। ट्वीट में लिखा गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अपने एक मुख्यमंत्री को , जो मुख्य रूप से अपने गृह जिले पर ध्यान दे रहे हैं और प्रदेश के शेष हिस्सों की उपेक्षा कर कर रहे हैं, से नाराज हैं। इस पोस्ट पर बहुत से जवाब दिए गए हैं।

ट्वीट में भले ही किसी का नाम ना दिया गया हो लेकिन इस पर ट्विटर यूजर्स ने जो कमेंट किए हैं, उसमें मोहन यादव का नाम प्रमुखता से है।

उज्जैन को केंद्र में रखकर ही काम कर रहे यादव!

मुख्यमंत्री मोहन यादव की हर योजना में उज्जैन शामिल होता है। हाल यह है कि इंदौर में बनने वाला ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट भी उज्जैन ले गए हैं । इंदौर एयरपोर्ट से उज्जैन की दूरी 50 किलोमीटर की है लेकिन नए स्थान पर बना रहे ग्रीनफील्ड एयरपोर्ट से इंदौर की दूरी 65 किलोमीटर की होगी ऐसे में नया ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट इंदौर के कितने काम आएगा ? इसके अलावा आईआईटी का रिमोट सेंटर भी उज्जैन गया है।

हाल ही में उन्होंने एक निवेशक मीट भी वही आयोजित की थी। उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद उज्जैन में ग्वालियर में लेकर तर्ज पर एक मेले का आयोजन भी हुआ है। कहा जाता है कि भाजपा ने उन्हें बिहार में जिस यादव बिरादरी के साधने के साधन के तौर पर देखा गया था। यह मामला भी अब जोर नहीं पकड़ रहा है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी ने तेजस्वी यादव के साथ चल रही नीतीश की सरकार गिरा दी है और इसके चलते अब बिहार में यादवों का स्वाभाविक झुकाव राजद की तरफ है।

गोवा प्रदेश अध्यक्ष की भी क्लास

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के इस कालम में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोवा के प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद सदानंद तनावड़े की भी क्लास ले ली। मोदी ने कहा कि दक्षिण गोवा से किसी महिला प्रत्याशी को टिकट देना चाहिए। इस पर तनावड़े ने कहा कि वहां कोई मजबूत महिला प्रत्याशी नहीं है। इस पर प्रधानमंत्री ने उनसे कहा कि ठीक है आप इस्तीफा देकर चुनाव लड़ लो मैं आपकी राज्य सभा में किसी महिला को भेज देता हूं। इसके बाद भाजपा ने गोवा में एक महिला प्रत्याशी को मौका दिया है।

error: Content is protected !!