19th May 2022

एकलव्यों ने मामा से मांग लिया अंगूठा!

जनजातीय छात्रों ने की मुख्यमंत्री की हूटिंग

इंदौर

जनजातीय वर्गों को लुभाने के लिए चल रही सरकारी कवायद उस समय मुख्यमंत्री के गले पड़ गई जब इंदौर में आयोजित एकलव्य विद्यार्थी सम्मेलन में जनजातीय छात्रों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जमकर हूटिंग कर दी। मुख्यमंत्री जैसे ही सम्मेलन को संबोधित करने के लिए खड़े हुए, वे थोड़ा ही बोल पाए थे कि वहां मौजूद छात्रों के एक समूह ने हूटिंग शुरू कर दी।

ये छात्र स्कॉलरशिप ना मिलने तथा बैकलॉग पदों को न भरे जाने को लेकर नाराजगी जता रहे थे। इनकी बातें सुनकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 1 साल के भीतर बैकलॉग पद भरे जाने की घोषणा की लेकिन छात्रों की नाराजगी कम नहीं हुई और वह लगातार मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। 

वहां मौजूद पुलिस प्रशासन और भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने छात्रों को समझाने की कोशिश की लेकिन यह नहीं माने। नगर भाजपा अध्यक्ष गौरव रणदिवे भी छात्रों को शांत कराने की कोशिश करते दिखे लेकिन उनकी बातों का भी छात्रों पर कोई असर नहीं हुआ।

हालत को देखते हुए मुख्यमंत्री ने 5 मिनट में ही अपनी बात समाप्त की और बाद में वे छात्रों के साथ भोजन करने के लिए पहुंचे। लेकिन इस दौरान भी सम्मेलन में नारेबाजी चलती रही।

हर आयोजन में आदिवासी नृत्य को कराने से नाराजगी

छात्रों की नाराजगी इतनी ज्यादा थी कि उन्होंने यहां तक कहा कि हर आयोजनों में हमारी समाज की बेटियों को नाचने के लिए बुला लेते हैं। उन्होंने इस पर भी आपत्ति जताई। इस आयोजन में भी लोकनृत्य हुये और मुख्यमंत्री चौहान भी इसमें शामिल हुए। यहां तक कि जब मुख्यमंत्री स्वयं को प्रदेश के बच्चों का मामा बता रहे थे तो नारेबाजी करने वाले छात्रों ने कहा कि हमारे मामा हमारे घर पर हैं। 

error: Content is protected !!