28th November 2022

एक पाठ्यक्रम जिसमें टीचर और स्टूडेंट एक साथ बैठकर देखेंगे पोर्न

अमेरिका के एक कॉलेज ने शुरू किया है पोर्न पर नया पाठ्यक्रम

गूंज स्पेशल

हमारे यहां वैसे ही पोर्न के बारे में बात करना बहुत सहज नहीं माना जाता है। यहां तक कि पोर्न की ज्यादा बात करने वाले को हम विकृत मानसिकता वाला भी समझ लेते हैं। ऐसे में यदि किसी कॉलेज में इसे लेकर कोई पाठ्यक्रम शूरू हो जाए तो हंगामा मचना तय है।

ऐसे ही हाल हैं अमेरिका के यूटा शहर के वेस्टमिनिस्टर कॉलेज के। इस निजी कॉलेज ने नए सत्र से एक पाठ्यक्रम शुरू किया है। इसका नाम हैे जेंडर -3000 पोर्न (gender 300 Porn । यह पाठ्यक्रम ऐच्छिक है और इसे मई के सत्र से शुरू किया जा रहा है।

अमेरिका की पोर्न इंडस्ट्री अरबों डॉलर की है ऐसे में आपको ऐसा लग सकता है कि वहां पर इस पाठ्यक्रम का स्वागत किया गया होगा लेकिन ऐसा नहीं है। यूटा में इसके विरोध में एक ऑनलाइन पेटिशन चल रही है।

दो क्रेडिट मिलेंगे कोर्स करने पर

इस कोर्स को करने वाले स्टूडेंट को दो क्रेडिट स्कोर मिलेंगे। हालांकि यह स्टूडेंट की इच्छा पर है कि वो इस पाठ्यक्रम करे या वो चाहे तो दो क्रेडिट के लिए किसी और पाठ्यक्रम को ले सकता है। इस पाठ्यक्रम के विवरण में कहा गया है कि इसमें स्टूडेंट और टीचर एक साथ एक कमरे में बैठकर पोर्न देखेंगे। इसके बाद वे अलग-अलग जाति, वर्ग और जेंडर की यौन गतिविधियों पर इसके प्रभाव पर चर्चा करेंगे।

पोर्न भी कला है

कोर्स के विरोध को देखते हुए क़लेज ने स्पष्टीकरण दिया है कि हार्ड कोर पोर्न अमेरिका में इतना लोकप्रिय जितना कि रविवार की रात को होने वाले नेशनल फुटबॉल लीग का मैच भी नहीं है। कई बिलीयन डॉलर के इस उद्योग को हम इस नजरिये से देखना चाहते हैं कि समाज के यौन जीवन और संस्कृति पर इसका क्या अशर पड़ रहा है। कॉलेज ने पोर्न को कला का एक रूप बताया है जिसमें कि चिंतन की आवश्यकता पड़ती है।

पोर्न शिक्षा नहीं है

वहीं इस पाठ्यक्रम को जोरदार विरोध किया जा रहा है। यूटा के निवासियों ने इसके खिलाफ एक ऑनलाइन पेटिशन भी चलाई है। उनका कहना है कि इसे पाठ्यक्रम को हटा दिया जाए। याचिका में कहा गया है कि “पोर्नोग्राफी शैक्षिक मूल्य से रहित है और कक्षा में इसका कोई स्थान नहीं है। हालांकि अभी तक कॉलेज ने ये पाठ्यक्रम वापस नहीं लिया है।

error: Content is protected !!