Goonj

Voice of the Students of India

चीन ने अपने यहां पढ़ रहे 22 हजार भारतीय छात्र वापस पढ़ने आने की अनुमति दी

अधिकांश स्टूडेंट्स कर रहे हैं चीन में मेडिकल की पढ़ाई

कोरोना के चलते अब तक वापस चीन लौटने में असमर्थ रहे भारतीय छात्र अब पढ़ाई करने के लिए वापस चीन लौट सकेंगे। इस संबंध में चीनी सरकार ने प्रक्रिया निश्चित कर दी हैं। चीन के विदेश मंत्रालय के अनुसार वहां पर लगभग 22 हजार भारतीय छात्र अलग-अलग विश्वविद्यालयों में पढ़ाई कर रहे हैं। इन छात्रों के चीन वापस लौटने के संबंध भारतीय विदेश मंत्रालय ने भी प्रयास किए थे। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी से बात की थी।

शेष पढ़ाई पूरी करने के लिए वापस चीन लौटने के इच्छुक छात्रों को 8 मई के पहले एक ऑनलाइन फॉर्म जमा करना होगा। इसके आधार पर भारतीय विदेश मंत्रालय चीन के विदेश मंत्रालय को वापस लौटने के इच्छुक छात्रों की सूची सौंपेगा। इसके बाद चीन सरकार संबंधित विभागों को इन छात्रों की जानकारी देगी और ये विभाग तय करेंगे कि किस छात्र को वापस लौटने दिया जा सकता है। केवल उन्हीं छात्रों को लैौटने की अनुमति दी जाएगी जो कि कोविड़ प्रोटोकॉल का पालने करेंगे और इसके लिए होने वाले खर्च को खुद उठाने को तैयार होंगे।

चीन सरकार ने पहले ही पाकिस्तान,श्रीलंका, थाईलैंड और सोलोमन आईलैंड के स्टूडेंट्स को लौटने की अनुमित दे दी है।

इस संबंध में भारत सरकार द्वारा जारी नोटिस को आप यहां पढ़ सकते हैं।

error: Content is protected !!