5th December 2022

कॉमर्स और आर्ट्स के स्टूडेंट्स भी दे सकेंगे गेट की परीक्षा

shiksha

अब तक इंजीनियरिंग और पर्यावरण विज्ञान जैसे विषयों के लिए ही होती थी गेट

नई दिल्ली .

इंजीनियरिंग की पोस्ट ग्रेजुएट और पीएचडी और सरकारी कंपनियों में नौकरियों के लिए होने वाली ग्रेजुएच एप्टीट्यूट टेस्ट यानी गेट की परीक्षा अब आर्ट्स (ह्यूमीनियटीज) जैसे सोशल साइंसेस आदि और कॉमर्स आदि विषय भी शामिल किए जा रहेंगे। कहा जा रहा है कि गेट फरवरी 2021 में होने वाली गेट की परीक्षा में आर्ट्स एवं कॉमर्स के स्टूडेंट्स शामिल हो सकेंगे। इसके लिए गेट के 10+2+4 के पैटर्न में 10+2+3 को शामिल किया जा रहा है ताकि बीए/बीकॉम/बीबीए अंतिम वर्ष में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स भी शामिल हो सकेंगे।

ये होगा फायदा

सामान्यत: गेट के जरिए इंजीनियरिंग और अन्य विषयों में पोस्ट ग्रेडुएशन और पीएचडी में प्रवेश लेने वाले स्टूडेंट्स को अच्छी स्कॉलरशिप मिलती है जो कि आर्ट्स (ह्यूमिनीटिज) और कॉमर्स के स्टूडेंट्स को नहीं मिलती है। इन विषयों के गेट में शामिल हो जाने के बाद इनके स्टूडेट्ंस को भी पीजी और रिसर्च के लिए अच्छी स्कॉलरशिप मिल सकेगी। इसके जरिए इन्हें आईआईटी और देश की अन्य जानी मानी यूनिवर्सिटीज में प्रवेश मिल सकेगा।

इन विषयों में होगी गेट

गेट 2021 की आयोजन कमेटी के चेयरमैन प्रो. दीपांकर चौधरी ने बताया कि इस बार की गेट में आर्ट्स (ह्यूमिनीटीज) में अंग्रेजी, अर्थशास्त्र, भाषा विज्ञान, मनोविज्ञान, समाजशास्त्र और दर्शनशास्त्र को शामिल किया जाएगा। इसके बाद इसमें अन्य विषयों को जोड़ा जाएगा। अब तक गेट की परीक्षा में देशभर में दस लाख स्टूडेंट्स शामिल होते हैं लेकिन इस बार नए विषय जुड़ जाने के चलते ये संख्या और ज्यादा हो सकती है। फरवरी 2021 में होने वाली गेट की परीक्षा इस बार कोरोना संक्रमण के चलते चार की बजाय छह दिन चलेगी। परीक्षा फरवरी की 5,6,7,12,13 और 14 तारीख को होगी।

इसके अलावा इस बार से स्टूडेंट्स दो विषय के साथ गेट दे सकेंगे। लेकिन विषयों के कांबिनेशन तय रहेंगे। यानी जो विषय एक साथ लिए जा सकते हैं उसकी सूची जारी की जाएगी और स्टूडेंट्स इन कांबिनेशन के साथ गेट दे सकेंगे।

Also Read सरकार बनाने के लिए वोट दें और चलाने के लिए टैक्स, फिर भी बदतमीजी के लिये तैयार रहें…

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!