28th May 2024

फर्जी ऐडमिशन लेटर से कनाडा पहुंचे 700 भारतीय छात्रों को वापस भेजने की तैयारी

2018 -19 ने स्टूडेंट भी जाकर कनाडा पहुंचे लगभग 700 भारतियों को वापस भेजने की तैयारी हो रही है बताया जा रहा है कियह लोग स्टूडेंट वीजा पर कनाडा में पढ़ने के लिए आए थे लेकिन स्टूडेंट वीजा के लिए उन्होंने के एडमिशन के लेटर लगाए थे वे फर्जी पाए गए हैं। जब इन छात्रों ने कनाडा की नागरिकता के लिए अप्लाई किया उस समय कैनेडियन बॉर्डर सर्विस एजेंसी ने इनके दस्तावेजों की जांच की और पाया कि इन्हें जो वीजा जारी किए गए थे वह फर्जी एडमिशन लेटर्स के आधार पर थे ।

स्टडी परमिट से मिलता है वीजा

कनाडा में जो भी छात्र पढ़ाई करने के लिए जाते हैं उन्हें वीजा जारी नहीं किया जाता बल्कि इसके स्थान पर एक स्टडी परमिट जारी किया जाता है । स्टडी परमिट के आधार पर कनाडा की इमीग्रेशन एजेंसी स्टूडेंट्स को  वीजा प्रदान करती है । 

इन सभी स्टूडेंट्स के बारे में एक बात सामने आई है कि इन सभी ने जालंधर के एक इमीग्रेशन एजेंट से वीजा बनवाया था । बताया जा रहा है कि यह एजेंट पंजीकृत था और अब अपना ऑफिस बंद करके भाग गया है ।

अब इस जालसाजी का खामियाजा स्टूडेंट्स को भुगतना पड़ रहा है और कनाडा की इमीग्रेशन एजेंसी ने इन स्टूडेंट्स को वापस भारत भेजने की तैयारी शुरू कर दी है। स्टू़ेंडेंट्स को सलाह दी जा रही है कि जब भी विदेश पढ़ाई करने जाएं तो यह सुनिश्चित करें कि आप पंजीकृत इमिग्रेशन एजेंट की मदद ही लेकर जाएं।

error: Content is protected !!