4th December 2022

अपने विधायकों के भगवान के नाम से शपथ लेने से सीपीएम नाराज

बोले देंगे मूल्यों की सीख, तीन विधायकों ने ली है विधानसभा में भगवान के नाम से शपथ

तिरुअनंतपुरम

केरल विधान सभा में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के तीन नए विधायकों ने भगवान के नाम की शपथ ली थी जिसके बाद अब पार्टी अपने विधायकों को मूल्यों की सीख देने वाली है। पार्टी ने विधायकों में ‘तर्कसंगत और वैज्ञानिक चेतना’ विकसित करने के लिए ‘शिक्षा’ देने का फैसला किया है। सीपीआई (एम) केरल के कार्यवाहक सचिव ए विजयराघवन ने कहा, “माकपा में आए नए नेता इतनी जल्दी पार्टी के मूल्य नहीं सीख सकते हैं। इसे पार्टी की शिक्षा के जरिए प्राप्त किया जा सकता है। हमें पार्टी के शैक्षिक कार्यक्रमों को मजबूत करने का निर्णय लेना होगा।”

मई में नवनिर्वाचित कोठामगलम विधायक एंथनी जॉन, अरूर विधायक दलीमा और अरनमुला विधायक वीना जॉर्ज ने भगवान के नाम पर शपथ ली थी। वीना जॉर्ज ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय का कार्यभार संभाला।

ए विजयराघवन  से जब पूछा गया कि क्या इन विधायकों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी, तो उन्होंने कहा कि पार्टी अपने सदस्यों के लिए शिक्षा कार्यक्रमों को मजबूत करने पर ध्यान केंद्रित करेगी।

ए विजयराघवन ने कहा कि पार्टी अपने सदस्यों को राज्य समिति से लेकर क्षेत्रीय स्तर तक शिक्षा प्रदान करेगी। उन्होंने कहा, “एक कम्युनिस्ट के लिए वैज्ञानिक तर्क की समझ होना बहुत जरूरी है और इसलिए पार्टी इस शिक्षा को महत्व देती है।”

14वीं केरल विधानसभा में बिना भगवान का नाम लिए 80 सदस्यों ने शपथ ली। अन्य 45 सदस्यों ने ईश्वर के नाम पर शपथ ली। ग्यारह सदस्यों ने अल्लाह के नाम पर शपथ ली।इससे पहले 2006 में माकपा ने पार्टी के उन विधायकों को फटकार लगाई थी जिन्होंने भगवान के नाम पर शपथ ली थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!