13th August 2022

पेरियार यूनिवर्सिटी के डिस्टेंस लर्निंग कोर्सेस में एडमिशन न लें

यूजीसी ने जारी की चेतावनी, यूनिवर्सिटी की मान्यता रोकी

नई दिल्ली.

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी (UGC) ने सार्वजनिक सूचना जारी कर कहा है कि स्टूडेंट्स तमिलनाडु की पेरियार यूनिवर्सिटी के किसी भी ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग (ODL) प्रोग्राम में प्रवेश न लें। यूजीसी ने कहा है कि पेरियार यूनिवर्सिटी को इन पाठ्यक्रमों की मान्यता नहीं है। यदि स्टूडेंट्स इसमें प्रवेश लेते हैं तो वे अपने करियर को जोखिम में डालेंगे। यूजीसी ने नियमों का पालन न करने के चलते पेरियार यूनिवर्सिटी के नए सत्र के मान्यता के आवेदन की प्रोसेसिंग रोक दी है।

यूजीसी द्वारा जारी पब्लिक नोटिस के अनुसार पेरियार यूनिवर्सिटी के पास 2020 तक की मान्यता है और यूनिवर्सिटी का 2022-23 के सत्र की मान्यता का आवेदन लंबित है लेकिन अब यूजीसी इस आवेदन पर विचार नहीं करेगा। इसके पीछे कारण बताए गए हैं कि यूजीसी को जानकारी मिली है कि यूनिवर्सिटी में फुल टाइम डायरेक्टर नहीं है।

इसके साथ ही यूजीसी का कहना है कि उसे जानकारी मिली है कि यूनिवर्सिटी में टीचिंग स्टाफ भी पर्याप्त नहीं है। यूनिवर्सिटी का ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग सेंटर (ODL)भी तैयार नहीं हुआ है। यूजीसी के अनुसार यूनिवर्सिटी ने बिना स्वीकृति लिए कईं नए पाठ्यक्रम भी शुरू कर दिए थे। इसके चलते अब यूजीसी ने तय किया है कि वो पेरियार यूनिवर्सिटी की मान्यता के आवेदन पर भी विचार नहीं करेगा।

राज्य सरकार से कहा जांच के लिए

यूजीसी ने कहा है कि इस मामले में मिली शिकायतों से तमिलनाडु के राज्यपाल को अवगत करा दिया गया है साथ ही राज्य सरकार को भी जानकारी दे दी गई है। यूजीसी ने इस मामले में प्रदेश सरकार ने जांच करने को भी कहा है। इसके चलते स्टूडेंट्स फिलहास पेरियार यूनिवर्सिटी के किसी भी ओपन और डिस्टेंस पाठ्यक्रम में प्रवेश न लें।

error: Content is protected !!