5th December 2022

बंगाल में भाजपा कार्यालय के बाहर लगाए कैलाश विजयवर्गीय गो बैक के पोस्टर

बैठक में भी भूमिका पर कार्यकर्ताओं ने नाराजगी जताई

कोलकाता

पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद से भारतीय जनता पार्टी के अंदर कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है।पार्टी के भीतर घमासान मचा हुआ है और पार्टी के सामने यह चुनौती है कि किस तरह से टीएमसी की ओर जा रहे अपने नेताओं को बचाएं। इसी बीच अब कोलकाता में भाजपा के बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय का विरोध शुरू हो गया है।

गुरुवार रात कोलकाता में भाजपा पार्टी के मुख्यालय के सामने ‘गो बैक टीएमसी सेटिंग मास्टर’ के पोस्टर लगाए गए थे। हालांकि इन पोस्टरों को अब हटा दिया गया है लेकिन अभी तक किसी भी समूह ने इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है।

बैठक में नहीं गए विजयवर्गीय

गुरुवार को भाजपा केंद्रीय नेता शिव प्रकाश की अध्यक्षता में पार्टी के प्रदेश पदाधिकारियों की बैठक हुई थी। हैरानी की बात यह थी कि इस बैठक से कैलाश विजयवर्गीय नदारद थे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक बंगाल में भाजपा पार्टी के अंदर कई लोगों ने कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ अपना गुस्सा जाहिर किया है। हालांकि चुनाव क बाद भी उन्हें निशाने पर लिया गया था।

इस बैठक के बाद से ही कोलकाता की सड़कों पर कैलाश विजयवर्गीय के खिलाफ ये पोस्टर लग गए थे। ऐसा बताया जा रहा है कि मुकुल रॉय की टीएमसी में वापसी के बाद भाजपा के कई नेताओं ने कैलाश विजयवर्गीय की भूमिका को लेकर नाराजगी जताई है। इन सबके बीच कैलाश विजयवर्गीय की ओर से भाजपा की बैठक में शामिल ना होना और कोलकाता की सड़कों पर लगे गो बैक के पोस्टर कई संदेश दे रहे हैं। 

बता दें कि पिछले कुछ दिन पहले ही भाजपा नेता तथागत रॉय ने चुनाव के लिए कैलाश विजयवर्गीय पर निशाना साधा था।

रॉय ने ट्वीट कर कहा था कि एक निष्ठावान भाजपा समर्थक के ट्वीट का एक अंग्रेजी अनुवाद। मैंने कुछ जोड़ा या घटाया नहीं है। रॉय ने ट्वीट किया कि आंटी (ममता), कृप्या हमें भी तृणमूल में ले जाइए, हो सकता है कि उसे अपने दोस्त की याद आ रही हो। दोनों पूरे दिन एक साथ रहते थे।

तथागत राय ने भी खोला था मोर्चा

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष रहे तथागत रॉय ने इसके पहले भी विजयवर्गीय, शिवप्रकाश और दिलीप घोष जैसे नेताओं पर सेवन स्टार होटलों में बैठकर टिकट बांटने के आरोप लगाए थे। इस मामले में भी इन तीनों नेताओं की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी। खाास बात ये है कि इस बार भाजपा कार्यालय के बाहर लगे पोस्टर्स में विजयवर्गीय को टीएमसी के साथ सांठ-गांठ करने वाला भी बताया गया है। इससे लग रहा है कि बंगाल भाजपा में हालात ठीक नहीं है।

1 thought on “बंगाल में भाजपा कार्यालय के बाहर लगाए कैलाश विजयवर्गीय गो बैक के पोस्टर

  1. Yi bhiya indore samz ra hi thi bagiyo ko kyu ticket di ya jo vastav mi jhanda utha ti hi un ka ticket kata hi yi sirf 2no. Mi chli gi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!