29th November 2022

भारतीय डॉक्टर ने अमेरिका में नरेंद्र मोदी के खिलाफ दर्ज कराया भ्रष्टाचार का केस

गौतम अडानी और आंध्र के सीएम जगन मोहन रेड्डी को भी बनाया आरोपी, भारी मात्रा में अमेरिका में केस ट्रांसफर करने का आरोप

Washington DC

भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर ने अमेरिका की एक कोर्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उद्योगपति गौतम रानी तथा आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी के खिलाफ भ्रष्टाचार और पेगासस का उपयोग करने सहित कई मामलों में एक कोर्ट केस फाइल किया है। डिस्ट्रिक्ट ऑफ कोलंबिया की कोर्ट ने इन मामलों में इन सभी को समन भी जारी किए हैं। जो कि इन सभी को प्राप्त हो चुके हैं। हालांकि भारतीय मूल के अमेरिकी वकील रवि बत्रा ने इस केस को डेड ऑन अराइवल बताया है। 

इस लॉ सूट को रिचमंड में रहने वाले भारतीय डॉक्टर लोकेश वुरुयु ( Dr. Lokesh Vuyyuru) ने फाइल किया है। वह आंध्र प्रदेश के रहने वाले हैं। इस केस में उन्होंने विश्व आर्थिक मंच (World Economic Forum) के संस्थापक और चेयरमैन क्लॉस श्वाब (kosis acharan) को भी आरोपी बनाया है। केस में आरोप लगाया गया है कि मोदी अडानी और जगन मोहन रेड्डी ने भारी मात्रा में नकदी अमेरिका में ट्रांसफर की है साथ ही अपने राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ पेगासस स्पाइवेयर का उपयोग भी किया है। 

यह केस 24 मई को फाइल किया गया था और 22 जुलाई को इसके समन भेज दिए गए थे। भारत में समन 4 अगस्त को तथा क्लॉस श्वाब को 2 अगस्त को मिल गए थे। 

19 अगस्त को डॉ वुयुरु ने सभी पक्षों को समन मिल जाने के प्रमाण प्रस्तुत किए हैं। 

भारतीय मूल के अमेरिकी वकील रवि बत्रा ने बताया है कि 53 पेज की अपनी शिकायत में डॉ. वुयुरु ने कोई प्रमाण प्रस्तुत नहीं किया है। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है जैसे कि डॉ. वुयुरु के पास बहुत सारा फालतू समय है जिसके चलते वे अमेरिकन फेडरल कोर्ट का दुरुपयोग कर रहे हैं। वे इसका इस्तेमाल अमेरिका के विश्वस्त साझीदार रहे भारत की छवि को धूमिल करने में कर रहे हैं। बत्रा ने इस शिकायत की तुलना टॉयलेट पेपर से की है और कहा है कि इस शिकायत पर कोई वकील साइन नहीं करेगा। 

बत्रा ने कहा कि इसी तरह की शिकायत सोनिया गांधी के खिलाफ की गई थी। जिसका निराकरण Extra-Territoriality and Foreign Sovereign lmmunity Act के प्रावधानों से हुआ था। उन्होंने कहा कि डॉ वुयुरु को भी इस कानून के रूल 11 को पढ़ाये जाने की आवश्यकता है। 

error: Content is protected !!