5th December 2022

55 लाख रुपए में दुबई में वैक्सीन लगवाने जा रहे भारत के रईस

दुबई

वैसे तो आप रईस हैं तो कुछ भी कर सकते हैं। शायद इसीलिए देश में कोरोना वैक्सीन 250 रुपए में लग रही है लेकिन भारत के रईस चार्टर्ड प्लेन से वैक्सीन लगवाने के लिए दुबई जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि दुबई में एस्ट्रा जेनेका और फाइजर के वैक्सीन मिल रहे हैं और हमारे पूंजीपतियों को फाइजर के वैक्सीन लगवाने हैं। दुबई में 40 साल से अधिक आयु के लोगों को ये वैक्सीन सरकार की ओर से मुफ्त लग रहे हैं।भारत के इस धनाढ़्य वर्ग को कोवैक्सीन और कोविशील्ड वैक्सीन में ज्यादा रुचि नहीं है।

केवल रेजीडेंट वीजा धारक जा सकते हैं

हालांकि वैक्सीन लगवाने के लिए दुबई जाने की सुविधा हर किसी के लिए आसान नहीं है। जिन लोगों के पास यूएई का रेजीडेंट वीजा है वे ही इसके लिए पात्र हैं। इन लोगों के लिए मार्च में दुबई प्रशासन ने वैक्सीन के लिए रजिस्टर करने की अनुमति दी। अप्रैल में इसमें तेजी आई जब भारत में कोरोना के मामलों में तेजी आई।

दुबई में वैक्सीन लगा चुके कुछ लोगों और चार्टर ऑपरेटर्स का कहना है कि कुछ लोग वैक्सीन की दो डोज लगाने के लिए दुबई में ही रह रहे हैं जबकि कुछ लोग वहां के दो चक्कर लगा रहे हैं। फाइजर की वैक्सीन की दो डोज के बीच तीन हफ्ते का अंतर है।

35 से 55 लाख का खर्च

इस वैक्सीन ट्रिप पर दुबई आने जाने का खर्च 35 लाख रुपये से 55 लाख रुपये के बीच आता है। यदि आप कुछ और खर्च करना चाहेंगे तो यह राशि इससे अधिक भी हो सकती है। इसमें ऑपरेटर की प्राइस जो आप किस शहर से दुबई जा रहे हैं इस पर निर्भर करेगी, इसके अलावा दुबई में रहने की अवधि और नंबर ऑफ पैसेंजर्स पर निर्भर करता है। जिन भारतीयों का बिजनस दुबई में रजिस्टर्ड है, उनके पास रेजिडेंट वीजा है। यूएई कुछ प्रोफेशनल कैटगरीज की भी रेजिडेंट वीजा देता है।

वहां वैक्सीन लगवाने जाने वालों का कहना है कि उन्हें लगता है कि फिलहाल कोरोना के जितने वैक्सीन बाजार में उपलब्ध हैं, उनमें फाइजर का वैक्सीन ज्यादा सुरक्षित है।

हालांकि सोमवार को भारत सरकार ने भी विदेशी वैक्सीन को भारत में आने की अनुमति दे दी है जिसके चलते अब ये वैक्सीन भारत में भी उपलब्ध हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!