24th February 2024

ना दाऊद इब्राहिम को जहर दिया गया ना ही वह अस्पताल में भर्ती

भारतीय खुफिया एजेंसियों के द्वारा इंटरसेप्ट की गई आईएसआई अधिकारियों की टेलीफोन कॉल के बाद दावा किया जा रहा है कि दाऊद इब्राहिम को ना तो जहर दिया गया है और ना वह अस्पताल में भर्ती है। यह जानकारी इंडिया टुडे ने दी है। जहां तक पाकिस्तान में इंटरनेट बंद किए जाने की बात है तो वह पाकिस्तान में इमरान खान की पार्टी की मीटिंग को रोकने के लिए 7 घंटे के लिए इंटरनेट बंद किया गया था।

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को जहर दिए जाने की खबरें बीते एक-दो दिन से सोशल मीडिया की सुर्खियां बन रही हैं। कहा जा रहा है कि पाकिस्तान में दाऊद को किसी ने जहर दे दिया है, जिसके बाद उसे गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि, खुफिया एजेंसियों ने इन खबरों का खंडन किया है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, विश्वस्त खुफिया सूत्रों ने दाऊद इब्राहिम के संबंध में सामने आई अफवाहों को खारिज किया है।

सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि दाऊद इब्राहिम को न ही जहर दिया गया है और न ही वह अस्पताल में भर्ती है। दरअसल, इस तरह की अफवाहें तब सामने आईं, जब एक पाकिस्तानी यूट्यूबर ने देर रात के वीडियो के जारी कर दाऊद इब्राहिम को जहर दिए जाने का दावा किया। इस दौरान उसने पाकिस्तान में अचानक इंटरनेट बंद हो जाने की घटना को इससे जोड़ा।

इमरान की वर्चुअल बैठक के कारण बंद किया इंटरनेट

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में अचानक इंटरनेट बंदी इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) की एक वर्चुअल बैठक के परिणामस्वरूप थी। विशेष रूप से,वैश्विक इंटरनेट स्वतंत्रता की निगरानी करने वाली इंटरनेट निगरानी संस्था नेटब्लॉक्स ने रविवार शाम को लगभग सात घंटे के लिए पाकिस्तान में प्रमुख सोशल मीडिया प्लेटफार्मों पर महत्वपूर्ण प्रतिबंधों का संकेत देने वाले मेट्रिक्स जारी किए। यह प्रतिबंध उसी समय लागू किए गए, जब पीटीआई की ऑनलाइन बैठक होनी थी।

error: Content is protected !!