24th February 2024

वो पाकिस्तानी मुस्लिम लड़कियां जिन्होंने भारतीय हिन्दुओं से शादी की

भारत और पाकिस्तान के बीच सदियों से तनावपूर्ण संबंध रहे हैं। ऊपर पाकिस्तानी लड़कियों को भारतीय लड़कियों की तरह छूट भी नहीं मिलती है। ऐसे में यह सोचना ही बहुत कठिन है कि पाकिस्तान की कोई पठान लड़की किसी भारतीय हिन्दू से शादी करेगी। लेकिन ऐसे कईं मामले सामने आए हैं। हम उन्हीं में से कुछ की जानकारी आपसे साझा कर रहे हैं।

आपने नूरजहां का नाम तो सुना होगा। हम एतिहासिक किरदार नूरजहां की बात नहीं कर रहे हैं। हम गायिका नूरजहां की बात कर रहे हैं जिनकी गायकी को स्वर कोकिला लता मंगेशकर भी मानती थीं। विभाजन के बाद नूरजहां पाकिस्तान चली गईं। बाद में उनकी पोती सोनियाजहां बॉलीवुड फिल्मों में काम करने भारत लौटीं। यहां उन्होंने फिल्म तो गिनी चुनी ही की लेकिन अपनी जिन्दगी का सबसे महत्वपूर्ण निर्णय कर लिया। उन्होंने यहां पर एक हिन्दू भारतीय से शादी कर ली। उनके पति का नाम विवेक नारायण हैं और वे उनके साथ दिल्ली में रहती हैं। दोनों की एक बेटी भी है जिसका नाम सोनियाजहां ने अपनी दादी के नाम पर नूर रखा है तो उनके बेटे का नाम निर्वान है। सोनियाजहां पाकिस्तान में भी बहुत लोकप्रिय अभिनेत्री रहीं हैं। यह शादी भी दिल्ली में हुई थी और इसमें नूरजहां स्वयं भी मौजूद थीं।

इसी तरह की शादी का एक और मामला सोनिया फतह और राजीव राव का है। सोनिया फतह पाकिस्तानी पत्रकार हैं और उन्होंने भारतीय राजीव राव से शादी की है। दोनों का एक बच्चा भी है। सोनिया ने पाकिस्तानी क्लासिकल डांस को लेकर एक डॉक्यूमेंट्री भी बनाई है। जो कि बहुत चर्चित है। दोनों आज भारत के बाहर रह रहें हैं।

सुमेध राजेन्द्रन को जब मासूमा सैय्यद से इश्क हुआ तो उनके दिमाग में भारत पाकिस्तान के बीच की जंग नहीं थी। जबकि दोनों में से एक का जन्म 1971 की भारत पाकिस्तान जंग के कुछ माह पहले हुआ था और दूसरे का इसके कुछ माह बाद। हालांकि इश्क जंग पर भारी पड़ा और ये दोनों कलाकार अब ईस्ट दिल्ली के मयूर विहार में रह रहे हैं। सुमेध केरल से हैं और उनके पिता जी राजेन्द्रन जाने माने चित्रकार हैं, तो वहीं मासूमा लाहौर से हैं। उन्होंने नेशनल कॉलेज ऑफ आर्ट्स लाहौर से पढ़ाई की है और वे भी चित्रकार हैं। 2003 में वे सुमेध से दिल्ली में हुए एक आर्ट फेस्टिवल में मिलीं और 2006 में दोनों ने शादी कर ली। तब से दोनों चित्रकारों की जिंदगी रंगीन है।

यश चोपड़ा की वीरा जारा वास्तविक जीवन में अमृतसर में फिल्माई गई जब भारतीय सेना के सेवानिवृत लेफ्टिनेंट जनरल प्रेम नाथ हून के पोते कानव प्रताप हून का इश्क उन्हें इंटरनेट के जरिए सरहद पार मिला। 27 साल के कानव ने 26 साल की पाकिस्तानी सुमैया सिद्दीकी से शादी की। इंटरनेट की दोस्ती के बाद दोनों ने दोस्त के रूप में दुबई में मिलना तय किया और उसके बाद उनके शादी ही एक मात्र रास्ता बचा। सैन्य पृष्ठभूमि के दादा और उनके पिता को लड़की के मुस्लिम होने से ज्यादा उसके पाकिस्तानी होने पर आपत्ति थी लेकिन कानव के आगे उन्हें झुकना पड़ा। लेकिन इस शादी ने पाकिस्तान की राजनीति में भूचाल ला दिया। विपक्षी दलों ने सुमैया को नवाज शरीफ की रिश्तेदार होने के झूठ फैलाया।

सुरैया और अभिजीत वाघानी की मुलाकात मुंबई में हुई। अभिजीत एक म्युजिक कंपोजर हैं और सुरैया मुंबई में एक एड फिल्म के काम के सिलसिले में आई थीं। इस फिल्म का जिंगल अभिजीत ने बनाया था और वहीं उनकी दोस्ती हुई। सुरैया ने पहले ही दोनों के बीच के धर्म के चलते रिश्ता आगे न बढ़ाने की बात कही लेकिन फोन पर बात करते करते दोनों में प्यार हो गया। इसके बाद अभिजीत सुरैया के माता पिता से मिलने ऑस्ट्रेलिया गए। दोनों की सहमति से उनकी शादी हो गई। सुरैया पाकिस्तान के रावलपिंडी की रहने वाली हैं और अभिजीत उनके साथ अब तक छह बार रावलपिंडी जा चुके हैं।

error: Content is protected !!