28th November 2022

आईआईटी में एडमिशन के मामले में राजस्थान फिर टॉप पर

2138 स्टूडेंट्स को मिला आईआईटी में प्रवेश

मध्य प्रदेश के कुल 1038 छात्रों को मिला आईआईटी में प्रवेश

मुंबई

एक बार फिर राजस्थान में के छात्रों ने आईआईटी के एडमिशन में बाजी मारी है। प्राप्त आंकड़ों के अनुसार इस बार राजस्थान के 2138 स्टूडेंट का आईआईटी में चयन हुआ है। इस बार आईआईटी में कुल सीटें 13801 थी। इस तरह से कुल सीटों में से लगभग 15% सीटें राजस्थान के छात्रों ने पाईं हैं। इस सूची में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर रहा है। 

जेईई एडवांस 2022 की काउंसलिंग प्रक्रिया पिछले महीने ही आईआईटी मुंबई में पूरी हुई है। इस बार काउंसलिंग की जिम्मेदारी आईआईटी मुंबई को दी गई थी। वहां से मिली जानकारी के अनुसार देशभर के 23 आईआईटी में कुल 13801 एडमिशन हुए हैं। 

इस सूची में उत्तर प्रदेश दूसरे स्थान पर रहा है। यहां के 2131 छात्रों को आईआईटी में प्रवेश मिला है। इसके बाद महाराष्ट्र, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश का स्थान है। इन प्रदेशों से क्रमशः 1747 1644 1428 और 1038 स्टूडेंट्स को आईआईटी में प्रवेश मिला है। 

जहां तक परीक्षा में सम्मिलित होने वाले स्टूडेंट्स की संख्या की बात है तो इस मामले में उत्तर प्रदेश पहले स्थान पर है। यहां के 22807 स्टूडेंट्स ने आईआईटी की परीक्षा के लिए रजिस्ट्रेशन कराया था। 

क्या कोटा के चलते हैं राजस्थान टॉप पर

राजस्थान का कोटा शहर आईआईटी की कोचिंग के लिए देश भर में विख्यात है। आईआईटी मुंबई के काउंसलिंग प्रक्रिया के प्रभारी रहे प्रोफेसर सुभाशीष चौधरी का मानना है कि इस तरह से नहीं माना जा सकता कोटा में चलने वाली कोचिंग क्लासेज के चलते राजस्थान में आईआईटी में टॉप किया है। प्रोफेसर चौधरी का कहना है कि लगभग हर राज्य में परीक्षा के लिए पंजीकृत होने वाले छात्रों और एडमिशन पाने वाले छात्रों के बीच का प्रतिशत 8 से 10 का ही है। इससे ऐसा लगता है कि लगभग हर राज्य में आईआईटी की तैयारी के लिए ठीक सुविधाएं उपलब्ध हैं। 

error: Content is protected !!