22nd July 2024

लोकसभा चुनाव में भाजपा को 219 सीट वाले ओपिनियन पोल पर उलझा एक्सिस माय इंडिया 

कहा हमारे नाम से किसी ने की शरारत, हम ओपिनियन पोल नहीं करते केवल एग्जिट पोल करते हैं 

लोकसभा चुनाव में पहले चरण के मतदान के पहले आखरी ओपिनियन पोल आ गए हैं। इन सभी के बीच में वो ओपिनियन पोल चर्चा में है जो जारी ही नहीं हुआ है लेकिन कहा गया है कि इसे इसलिए जारी नहीं किया गया क्योंकि इसके हिसाब से भारतीय जनता पार्टी लोकसभा चुनाव हार रही है। सोशल मीडिया पर चार पेज के डाटा प्रचलित है जिसमें भारतीय जनता पार्टी के एनडीए गठबंधन को ढाई सौ के आसपास सीट मिलती दिखाई जा रही है। इन पेज के ऊपर सर्वे एजेंसी का नाम लिखा है उसका नाम है एक्सिस माय इंडिया और इस एजेंसी तथा इसके मालिक ने ओपिनियन पोल करने से इनकार करते हुए कहा है कि उनकी एजेंसी केवल एग्जिट पोल करती है ओपिनियन पोल नहीं करती । 

एक्सिस माय इंडिया के इस कथित ओपिनियन पोल के परिणाम चार पेज में जारी किए गए हैं। सभी के हैडर पर एक्सिस माय इंडिया का नाम है तथा नीचे लिखा है कॉन्फिडेंशियल। इस पोल के मुताबिक एनडीए को 243 – 252 सीटों के बीच संतोष करना पड़ेगा तो वही कांग्रेस के इंडिया गठबंधन को 232 से 242 सीटों पर संतोष करना होगा ।

इस पोल में भारतीय जनता पार्टी को 208 से 219 सीट तथा कांग्रेस को 112 से 134 सीट मिलती दिखाई गई हैं। पहले पेज पर यह परिणाम दिए गए हैं और इसके नीचे लिखा गया है कि 2013 से लेकर अब तक एक्सेस माय इंडिया ने 69 ओपिनियन पोल किए हैं जिसमें से 64 बिल्कुल सही बैठे हैं। 

सोशल मीडिया साइट एक्स यानी कि ट्विटर पर जहां की यह पोल पोस्ट किया गया था, वहां लिखा गया है कि क्योंकि पोल में भाजपा पिछड़ती दिखाई दे रही है इसलिए एक्सिस माय इंडिया ने इसे जारी नहीं किया है। कहा गया है कि एजेंसी के मुखिया ने इसे पोस्ट करके डीलीट कर दिया है। इस ओपिनियन पोल के वायरल होने के बाद एक्सिस माय इंडिया ने अपनी ऑफिशल वेबसाइट पर पोस्ट किया है किउनकी एजेंसी ओपिनियन पोल नहीं करती है बल्कि एग्जिट पोल करती है इस तरह से वह अपना एग्जिट पोल चुनाव आयोग द्वारा तय सीमा 1 जून को शाम 6:30 बजे के बाद जारी करेंगे।

इस पोस्ट के नीचे बहुत सारे यूजर्स ने जवाब देते हुएकहा है कि एक्सिस माय इंडिया के मालिक प्रदीप अग्रवाल ने स्वयं ट्वीट करके से डिलीट किया है और यहां पर ट्वीट का स्क्रीनशॉट भी पोस्ट किया गया है। 

इसके अलावा एक्सिस माय इंडिया नेअपने प्रमुख प्रदीप अग्रवाल का बरखा दत्त के साथ का एक इंटरव्यू भी रिपोस्ट किया है जिसमें प्रदीप अग्रवाल बता रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी किन राज्यों में आगे है और किन राज्यों में पीछे है और वह कौन से राज्य है जहां पर भारत की कोई गुंजाइश ही नहीं है।

ओपिनियन पोल में क्या है? 

इस ओपिनियन पोल में भाजपा को बड़ा झटका लगाते हुए दिखाया गया है। इस पोल के हिसाब से बीजेपी पंजाब, तमिलनाडु, केरल और मणिपुर जैसे राज्यों में खाता भी नहीं खोल पाएगी। इतना ही नहीं पिछले दो चुनाव से भाजपा को केंद्र की सत्ता में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले उत्तर प्रदेश में भी पार्टी को केवल 56 सीट मिलती हुई दिखाई गई हैं। इसके अलावा महाराष्ट्र और बिहार में पार्टी को बड़े नुकसान की संभावना बताई गई है।

इस ओपिनियन पोल के हिसाब से भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए को बिहार में कुल 21 सीट मिल सकती है तो वहीं महाराष्ट्र में उनका आंकड़ा 48 में से 22 सीटों तक सीमित रह सकता है। यहां उसे उद्धव ठाकरे की शिवसेना के भाजपा को बड़ा झटका देते हुए दिखाया गया है। कर्नाटक में भी पिछली बार 28 में से 27 सीट जीतने वाली भाजपा को केवल 11 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है।

हरियाणा में पिछली बार 10 में से सारी सीटें जीतने वाली भाजपा को इस बार ओपिनियन पोल के मुताबिक केवल चार सीट मिलती हुई दिखाई दे रही है। पिछले दो चुनाव से दिल्ली की सभी सातों सीटों पर जीत दर्ज करने वाली भाजपा को इस ओपिनियन पोल के मुताबिक चार सीटों का नुकसान होता दिख रहा है यानी कि यह ओपिनियन पोल बताता है कि भाजपा इस बार दिल्ली में केवल तीन सीटों पर आगे है। ओपिनियन पोल के मुताबिक पश्चिम बंगाल में भी भाजपा की सीट 18 से घटकर 14 रह सकती हैं।

इन ओपिनियन पोल के मुताबिक भारतीय जनता पार्टी को जहां पिछले चुनाव में लगभग आठ राज्यों में सारी के सारी सीट मिली थी तो इस बार इस तरह की स्थिति केवल एक राज्य अरुणाचल प्रदेश में बनती दिखाई दे रही है। इतना ही नहीं मध्य प्रदेश में 29 सीटों को जीतने की जुगत में लगी भाजपा को इस सर्वे के मुताबिक केवल 23 सीटें मिलने का अनुमान लगाया गया है।

error: Content is protected !!