अंगूर की फसल को ठंड से बचाने के लिए खेतों में कैंडल जला रहे किसान

फ्रांस में 21वीं सदी की सबसे भयावह कृषि त्रासदी

पेरिस.

इस चित्र में आप जो जगह जगह पर जलती हुई आग देख रहे हैं वह खेतों में पराली जलाने की आग नहीं है बल्कि यह एंटी फ्रॉस्ट कैंडल हैं, जो किसानों ने अपनी फसल को ठंड से बचाने के लिए जलाई हैं। 

इस बार की ठंड अंगूर (vineyard) और ऑर्चिड जैसे फूलों की खेती के लिए खतरा बन कर आई है। देश के कृषि मंत्री जूलियन डेनोरमेंडी ने इसे 21वीं सदी की सबसे बड़ी कृषि त्रासदी बताया है। कुल मिलाकर यहां पर ठंड कितनी है कि फसल के लिए नुकसानदायक पाला पड़ रहा है।

अपनी फसल को इस से बचाने के लिए किसान सुबह पानी का छिड़काव करते हैं और उसके बाद कैंडल जलाते हैं। इस तरह से पानी की सतह बर्फ की सतह में बदल जाती है और फसल पर पाला सीधा असर नहीं करता है। 

हालांकि विशेषज्ञ मानते हैं कि यह प्रयास बहुत बड़ी मात्रा में फसल को बचाने में कारगर नहीं होंगे। क्योंकि इतनी कैंडल जलाना हर किसी के बस की बात नहीं है। अब तक ये आंकलन भी नहीं हो पाया है कि इससे फलस को कितना नुकसान होगा।


फ्रांस में ज्यादातर अंगूर का उपयोग शराब बनाने में होता है इस तरह से शराब उद्योग का कहना है कि अंगूर की फसल पर पाला पड़ने के चलते इस बार शराब का उत्पादन प्रभावित होगा। इसके साथ ही खूबानी और आडू जैसे फल भी देखने को नहीं मिलेंगे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!