28th November 2022

नेट फ्लिक्स पर जारी रहेगी नंगई !

ट्राई ने ओटीटी प्लेटफॉर्म पर नियंत्रण लागू करने से इनकार किया

नई दिल्ली.

अपने अश्लील और देश विरोधी कंटेंट के लिए बदनाम OTT ( Over the Top) प्लेटफार्म पर नियंत्रण करने का सरकार का कोई इरादा नहीं है। इसको रेगुलेट करने वाला टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी ट्राई ने स्पष्ट किया है कि फिलहाल ओटीटी प्लेटफार्म पर कोई नियंत्रण लागू नहीं होंगे।

पहले ऐसा माना जा रहा था कि सरकार शीघ्र ही इन पर कंटेंट नियंत्रण हेतु रेगुलेशन ला सकती है लेकिन ट्राई ने स्पष्ट कर दिया कि ऐसा कोई इरादा नहीं है। लंबे समय से ओटीटी प्लेटफॉर्म अपने अश्लील और देश विरोधी कंटेंट के चलते कई लोगों के निशाने पर हैं। इसके बावजूद इसकी लोकप्रियता बढ़ती जा रही है।

ट्राई का कहना है कि फिलहाल नियंत्रण का मामला इन प्लेेटफॉर्म पर ही छोड़ा गया है। वे ही तय करें कि क्या दिखाना सही है, इसके बाद ही वह इसके लिए रेग्यूलेशन लाने के बारे में सोचेगा।

अश्लील और अपराधिक कंटेंट की भरमार

नेटफ्लिक्स और अल्ट बालाजी जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अश्लीलता फैलाने के आरोप लगे हैं और इन आरोपों में दम है। ओटीटी प्लेटफॉर्म ने लोकप्रिय होने के लिए अश्लीलता की सारी सीमाएं लांघ दी हैं। नेटफ्लिक्स के सेक्रेड गेम्स नामक शो में सैफ अली खान और नवाजुद्दीन सिद्दीकी जैसे स्थापित कलाकारों के होने के बावजूद जमकर अश्लीलता और गाली गलौज दिखाई गई थी। इस तरह के कंटेंट की इन प्लेटफॉर्म पर भरमार है।

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ ने भी इन पर परोसी जा रही सामग्री पर आपत्ति ली है। संघ अनुषांगिक संगठन ने इस संबंध में इन प्लेटफॉर्म के साथ बैठक भी की थी। संघ की सर्वाधिक आपत्ति मनोज वाजपेयी के शो दि फैमिली मैन पर थी। इसमें खुल्लम खुल्ला आंतकियों का समर्थन करने का आरोप लगा था।

शिवसेना ने नेटफ्लिक्स के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। आईटी सेल के सदस्य रमेश सोलंकी ने भारत और हिंदुओं को बदनाम करने के आरोप में मुंबई के एलटी मार्ग पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज कराई है।
 
उन्होंने ‘सेक्रेड गेम्स’, ‘लैला’ और ‘घोल’ सहित स्टैंडअप कॉमेडियन हसन मिन्हाज के शो का हवाला देते हुए कहा कि यह सभी सीरीज दुनिया भर में भारत को बदनाम करने की मंशा दर्शाती है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार भी इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री को पत्र लिख कर सेंसरशिप लागू करने की मांग कर चुके हैं।

फैमिली मैन था निशाने पर

इस वेब सीरिज में एनआईए की महिला अधिकारी कह रही हैं, स्पेशल पावर एक्ट के दम पर कश्मीरी लोगों को दबाया जा रहा है। हम उनके फोन और इंटरनेट बंद कर देते हैं। यहां के लोग हमारे रहमो-करम पर जी रहे हैं। किसी को खुलकर आजादी से जीने न देना अगर जुल्म नहीं है तो क्या है…आखिर हममें और उन मिलिटेंटों (आतंकवादियों) में फर्क क्या है?’

‘द फेमिलीमैन’ की कहानी में सीरिया से ट्रेनिंग लेकर आए आईएसआईएस और कश्मीरी आतंकवादियों तक के मानवीय पक्षों को उभारा गया है। बताया गया है कि सभी आतंकवादी हिंदुओं, पुलिस या सेना के अत्याचार से परेशान होकर हथियार उठाने को मजबूर हुए। देश में हर तरह मुसलमानों को दबाया और कुचला जा रहा है। उनके साथ अत्याचार हो रहा है।’ इसके अलावा ‘सेक्रेड गेम्स’ में हिंदू धर्म को एक ऐसे कल्ट के तौर पर दिखाया गया है जो धरती को नष्ट करना चाहता है।’  ये अंश संघ के मुखपत्र  पांचजन्य में छपे लेख के हैं। इसके बावजूद सरकार का ओटीटी प्लेटफॉर्म को सेंसर के दायरे में न लाना चौकाने वाला है।

एकता कपूर के अल्ट बालाजी ने किया सेना का अपमान

 एकता कपूर की इस XXX 2 वेब सीरीज पर ऐसा आरोप लगाया गया था कि इस सीरीज में भारतीय सेना का अपमान किया गया है। अब हालही में आल्ट बालाजी पर प्रसारित XXX 2 वेब सीरीज को लेकर डायरेक्टर-प्रोड्यूसर एकता कपूर ने माफी मांगी है। एक बयान में एकता ने इस सीरीज के आपत्त‍िजनक सीन के लिए भारतीय सेना से क्षमा याचना की है। उन्होंने कहा कि उनका ड‍िजिटल प्लेटाफॅार्म आल्ट बालाजी सेना की बहुत इज्जत करता है। उनपर वेब सीरीज के प्रसारण के जरिए अश्लीलता फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और राष्ट्रीय प्रतीक चिह्नों के अपमान के आरोप लगाए गए थे। यह विवाद शो के एक सीन के कारण हुआ जिसमें भारतीय सेना के यूनिफॉर्म को आपत्त‍िजनक तरीके से दिखाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!