Goonj

Voice of the Students of India

योगी आदित्यनाथ के मुस्लिम गुरू भाई

अंतिम संस्कार करने भी गए थे योगी  

गूंज स्पेशल

देश में हिन्दू आईकॉन के रूप में पहचाने जाने वाले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक गुरू भाई मुस्लिम भी थे। खास बात ये है कि ये उनके ये गुरु भाई गुजरात से हैं। इनका दीक्षा के बाद नाम महंत गुलाबनाथ बापू था जबकि इनका जन्म का नाम गुल मोहम्मद था। इनका जन्म गुजराज के झलोड में हुआ था। ये गुजरात के विसनगर स्थित नाथ संप्रदाय के आश्रम के महंत थे। महंत गुलाबनाथ का दिसंबर 2016 में 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। वे लगभग साठ वर्ष तक विसनगर मठ के महंत रहे।

योगी आदित्यनाथ के अपने इन गुरू भाई के साथ इतने निकट के संबंध थे कि वे महंत गुलाबनाथ के निधन पर उनके अंतिम संस्कार के लिए 6 दिसंबर 2016 को विसनगर गए थे। उन्होंने शंकरनाथ को मठ का नया महंत भी नियुक्त किया था।

योगी आदित्यनाथ महंत गुलाबनाथ के साथ

महंत अवैद्यनाथ को गुरु मानते थे

महंत गुलाबनाथ ने 18 वर्ष की आयु में महंत बालकनाथ से दीक्षा ली थी। वे ‌विसनगर मठ की गुरू शिष्य पंरपरा की छठी पीढ़ी के थे। वे गुरू अवैद्यनाथ को अपना गुरू मानते थे। योगी आदित्यनाथ के गुरू भी वही हैं। इसके चलते महंत गुलाबनाथ योगी आदित्यनाथ को अपना गुरू भाई मानते रहे। इतना ही नहीं योगी के गोरखपीठ के महंत बनने के बाद भी महंत गुलाबनाथ को गोरखपुर पीठ के हर महत्वपूर्ण आयोजनों में आमंत्रित किया जाता था। योगी भी विसनगर के मठ पर वर्ष में दो तीन बार आते रहे।

बताया जाता है कि जब महंत गुलाबनाथ बीमार थे तो योगी लगभग हर दिन फोन कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहते थे। विसनगर मठ से जुड़े लोग बताते हैं कि योगी की गुजरात यात्रा इस मठ से ही शुरू होती थी। दरअसल गुलाबनाथ के  पिता असीम खान नाथ संप्रदाय के संतों का बहुत आदर करते थे। इसके चलते ही गुलाबनाथ विसनगर मठ के महंत बालकनाथ के निकट आ गए थे और बाद में हिन्दू धर्म स्वीकार कर गुल मोहम्मद से गुलाब नाथ बन गए थे।  

error: Content is protected !!