13th August 2022

अमेरिका सहित इन 9 देशों में चला सकते हैं भारतीय लाइसेंस से गाड़ी

Goonj Special

आपको शायद ही इसकी जानकारी हो कि दुनिया में नौ देश ऐसे हैं जो कि भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस पर भी अपने यहां गाड़ी चलाने की अनुमति देते हैं। खास बात यह है कि यह देश दुनिया के व्यापार, व्यवसाय और शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। इन देशों में अमेरिका से लेकर स्वीटजरलैंड तक शामिल है। हालांकि भारतीय लाइसेंस पर इन देशों में गाड़ी चलाने के लिए कुछ छोटे-मोटे प्रतिबंध लगाए गए हैं।

जैसे कि ड्राइविंग लाइसेंस अंग्रेजी में होना चाहिए। इसके अलावा फ्रांस जैसे देश में गाड़ी चलाने के लिए जरूरी है की ड्राइविंग लाइसेंस फ्रेंच में अनुवादित कॉपी आपके पास होनी चाहिए। एक बात और ध्यान देने वाली है कि इन देशों में भारतीय लाइसेंस पर आप हमेशा गाड़ी नहीं चला सकते हैं इसके लिए आपको कुछ अवधि की छूट दी गई है जो कि 3 माह से एक वर्ष तक की है।

अमेरिका में है सबसे आसान

भारतीय लाइसेंस पर गाड़ी चलाने के मामले में अमेरिका के नियम सबसे लचीले हैं। हालांकि भारत में गाड़ी को सड़क के बायीं और चलाया जाता है जबकि अमेरिका में सड़क के दायीं और गाड़ी चलाई जाती है। यदि किसी भारतीय के पास वैलिड ड्राइविंग लाइसेंस है और वह अंग्रेजी भाषा में है तो आप अमेरिका में पूरे साल कहीं भी गाड़ी चला सकते हैं। यदि आपका ड्राइविंग लाइसेंस अंग्रेजी में नही है तो आपको अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट के साथ साथ फॉर्म I-94 की कॉपी भी अपने साथ रखनी होगी। फॉर्म I-94 में आपके अमेरिका आने की तारीख लिखी होती है।

ऑस्ट्रेलिया के कुछ हिस्सों में है अनुमति


ऑस्ट्रेलिया में भारत की तरह ही सड़क के बाईं ओर ड्राइविंग की जाती है। अगर आपके एक वैध भारतीय लाइसेंस है जो कि अंग्रेजी में है, तो आप 3 महीने तक क्वींसलैंड, न्यू साउथ वेल्स, दक्षिण ऑस्ट्रेलिया, उत्तरी क्षेत्र और ऑस्ट्रेलियाई राजधानी क्षेत्र में गाड़ी चला सकते हैं। यहां इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की भी जरूरत होती है। खास बात यह है कि यह सुविधा ऑस्ट्रेलिया के सभी राज्यों में नहीं है इसलिए इसका ध्यान रखें।

फ्रांस में फ्रेंच में चाहिए लाइसेंस

इस देश में सड़क के दायीं तरफ गाड़ी चलायी जाती है। यहां की सड़कों पर आप इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस से 1 साल तक ड्राइविंग का मजा ले सकते हैं। हालांकि, लाइसेंस की फ्रेंच कॉपी अपने साथ रखनी होगी।

न्यूजीलैंड 21 वर्ष की आयु जरूरी


भारतीय ड्राइवर, इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस के आधार पर न्यूजीलैंड में केवल तब ही ड्राइव कर सकते हैं जब वे 21 वर्ष या उससे ऊपर हों। यहाँ पर सड़क के बायीं तरफ गाड़ी चलाई जाती है। लाइसेंस का अंग्रेजी में होना जरूरी है, या फिर न्यूजीलैंड ट्रांसपोर्ट एजेंसी से ट्रांसलेट कराया जाना चाहिए।

स्विट्जरलैंड में 1 साल की छूट


स्विट्जरलैंड में बर्फ से ढकी पहाड़ियों के बीच गाड़ी चलाना किसी का भी सपना हो सकता है। स्विट्जरलैंड में गाड़ी सड़क के दायीं ओर चलाई जाती है। यहाँ आप भारतीय ड्राइविंग लाइसेंस से 1 साल तक गाड़ी चला सकते हैं। हालांकि, अमेरिका और साउथ अफ्रीका की तरह यहां भी आपके ड्राइविंग लाइसेंस का अंग्रेजी में होना जरूरी है।

जर्मनी में 6 माह की छूट


जर्मनी में भी सडक के दाई साइड गाड़ी चलाई जाती है। इस देश में आप इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस से 6 महीने तक गाड़ी चला सकते हैं। यहां इंटरनेशनल ड्राइविंग लाइसेंस की जरूरत नहीं होती, लेकिन आपको अपने साथ इंडियन लाइसेंस की इंग्लिश में ट्रांसलेटिड कॉपी रखनी जरूरी है। आप चाहें तो इसे दूतावास से भी ट्रांसलेट करा सकते हैं। इसके साथ ही आपके पास गाड़ी से जुड़े सभी डॉक्युमेंट्स होने जरूरी है।

नॉर्वे में 3 माह की छूट


मिडनाइट सन की भूमि कहे जाने वाले इस देश में गाड़ियाँ सड़क के दायीं तरफ चलायीं जाती हैं। यहाँ आप इंडियन ड्राइविंग लाइसेंस पर सिर्फ 3 महीने ही गाड़ी चला सकते हैं इसके साथ ही लाइसेंस का अंग्रेजी में होना भी जरूरी है।

मॉरीशस में इंटरनेशनल परमिट जरूरी


अगर आपके पास भारत का ड्राइविंग लाइसेंस (इंग्लिश भाषा में) और अंतर्राष्ट्रीय ड्राइविंग परमिट है तो आप इस छोटे से देश को एक दिन में ही पूरा घूम सकते हैं। यहाँ पर सड़क के बायीं और ड्राइविंग की जाती है।

error: Content is protected !!