1st March 2024

JEE Main में एड्रेस प्रूफ के एफिडेविट का फॉर्मेट न होने से स्टूडेंट्स हो रहे परेशान

स्कूल आईडी, बैंक पासबुक एवं रेंट एग्रीमेंट से संबंधित दस्तावेज भी मांगे

नई दिल्ली.

देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा जेईई-मेन (JEE Main) के अप्रैल सेशन के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी है। अब तक 60 हजार ऐसे स्टूडेंट्स आवेदन कर चुके हैं, जो इस साल पहली बार यह परीक्षा देंगे। परीक्षा के लिए आवेदन की डेट 12 मार्च रात 9 बजे तक है। जिन 8.66 लाख स्टूडेंट्स ने आवेदन किया था, उन सभी को अप्रैल परीक्षा में शामिल होने के लिए फिर आवेदन करना होगा। इसके लिए पुराने एप्लिकेशन नम्बर व पासवर्ड के आधार पर ही आवेदन करना होगा। नए और पुराने स्टूडेंट्स के आवेदन की स्थिति को देखते हुए यह अनुमान लगाया जा रहा है कि इस वर्ष परीक्षा में बैठने वाले कुल स्टूडेंट्स की संख्या 10 लाख से अधिक हो सकती है।

अतिरिक्त दस्तावेजों की मांग

एनटीए द्वारा अप्रैल आवेदन में पहली बार विद्यार्थियों के स्थानीय एवं स्थाई पते के लिए एड्रेस प्रूफ मांगा जा रहा है। एड्रेस प्रूफ के तौर पर विद्यार्थियों को परमानेंट एड्रेस के लिए डोमेसाइल, पासपोर्ट, आधार कार्ड तथा वोटर आईडी आदि दस्तावेजों एवं प्रजेन्ट एड्रेस के लिए इन सभी दस्तावेजों के अतिरिक्त स्कूल आईडी, बैंक पासबुक एवं रेंट एग्रीमेंट से संबंधित दस्तावेजों को अपलोड करने को कहा गया है। स्टूडेंट्स को प्रजेन्ट एड्रेस के लिए दस्तावेजों में से कोई डॉक्यूमेंट उपलब्ध नहीं होने पर एफिडेविट द्वारा आवेदन किया जा सकता है।

लेकिन कोटा के उन हजारों विद्यार्थियों को इन दस्तावेजों को तैयार करवाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इन दस्तावेजों के फॉर्मेट का कोई आइडिया नहीं है, इसके साथ ही इन औपचारिकताओं से परिचित भी नहीं हैं। ऐसे में वे परेशान होने लगे हैं। विद्यार्थियों का कहना है कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा इस समस्या के समाधान के लिए आवश्यक प्रारूप जारी करना चाहिए ताकि सभी विद्यार्थी निर्धारित फॉर्मेट के अनुसार ही अपने संबंधित एड्रेस प्रूफ को जल्द एवं आसानी से बना सकें।

error: Content is protected !!