5th December 2022

वाटर पार्क में टॉपलेस नहा रही महिला को बाहर निकाला तो सैकड़ों महिलाएं टॉपलेस होकर सड़क पर आ गई

टॉपलेस सनबाथ ले रही महिला को बाहर निकालने को लेकर बर्लिन की सड़कों पर महिलाओं ने टॉपलेस रैली निकाली

No nipple is free until all nipples are free के संदेश के साथ हजारों महिला हुई जमा

बर्लिन

26 जून को जर्मनी की राजधानी बर्लिन में एक वाटर पार्क में अपने बच्चों के साथ टॉपलेस होकर सनबाथ ले रही फ्रेंच महिला को पुलिस ने बाहर निकाल दिया था। इसके विरोध में शनिवार को बर्लिन की सड़कों पर हजारों महिलाएं टॉपलेस होकर जमा हुई और उन्होंने साईकिल रैली निकाली। इस रैली में महिलाओं ने पुरुषों के समान अधिकार की मांग की।

वही रैली में शामिल पुरुष महिलाओं के समर्थन में ब्रा पहने हुए थे। वहीं महिलाओं ने अपने टॉपलेस शरीर पर फ्री द बूब्स और My body my choice जैसे स्लोगन भी लिखे थे। इस रैली का आयोजन हाडोनिस्ट इंटरनेशनल (Hadonist International) नाम के ग्रुप में किया था। इस ग्रुप की वेबसाइट पर कहा गया है कि सभी निप्पल खूबसूरत होते हैं उनमें अंतर नहीं किया जाना चाहिए। इसका मतलब यह है कि संगठन महिला और पुरुष दोनों के निप्पल के लिए बराबर की आजादी चाहता है। 

पिछले महीने जिस फ्रेंच महिला गेबरियला लेब्रेटन को वाटर पार्क में या तो शर्ट पहनने या बाहर जाने का विकल्प दिया गया था और ऐसा न करने पर पुलिस के द्वारा उन्हें वहां से बाहर निकाल दिया गया था, वे भी इस रैली में शामिल हुईं।

जर्मनी में पार्शियल न्यूडिटी की अनुमति है लेकिन किसी प्रॉपर्टी के मालिक अपने हिसाब से न्यूडिटी के लिए नियम भी बना सकते हैं। गैब्रिएला ने उस घटना के बारे में बताते हुए कहा कि वह असमान व्यवहार को सामने लाने वाला घटनाक्रम था और आगे महिलाओं के लिए एक स्प्रिंग बोर्ड का काम करेगा। यानी की समानता के अभियान में तेजी लाएगा। 

ये हैं गेबरियला लेब्रेटन, जिन्हें टॉपलेस नहाने के कारण वाटर पार्क से बाहर निकाला गया था

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!