5th December 2022

जब शिल्पा शेट्टी की मां ने साड़ी वाले को धमकाने के लिए ली थी एक डॉन की मदद

2 करोड़ मांगने का मामला अभी मुंबई के कोर्ट में, शिल्पा की मां है आरोपित

अपने पति राज कुंद्रा के चलते शिल्पा शेट्टी चर्चाओं में है। 18 साल पहले भी शिल्पा शेट्टी का परिवार एक छुटभैइये डॉन की मदद से एक व्यापारी को धमकाने के मामले में चर्चा में आया था। बात यह थी कि सूरत के प्रफुल्ल साड़ी ब्रांड ने शिल्पा शेट्टी को चार लाख रुपये में अपनी साड़ियों की मॉडलिंग करने के लिए हायर किया था। इस मॉडलिंग का कोई लिखित कांट्रेक्ट नहीं था।

इसके चलते प्रफुल्ल साड़ी वालों ने शिल्पा शेट्टी के विज्ञापन का उपयोग 2003 तक जारी रखा। कुछ समय तक तो अग्रवाल पैसे देते रहे लेकिन बाद में उन्होंने पैसा देना बंद कर दिया क्योंकि शिल्पा को साइन करते समय इस तरह की कोई बात नहीं हुई थी। ये वो समय था जब तक कि शिल्पा शेट्टी बॉलीवुड में एक जानी-मानी स्टार बन चुकी थीं। इसके चलते उन्होंने प्रफुल्ल साड़ी के मालिक शिवनारायण अग्रवाल से इस विज्ञापन के लिए और पैसों की मांग की।

 शिल्पा शेट्टी की तरफ से इस मामले को उनकी मां सुनंदा शेट्टी और पिता सुरेंद्र शेट्टी हैंडल कर रहे थे। अग्रवाल पर दबाव बनाने के लिए सुनंदा शेट्टी ने बैंकॉक निवासी एक छूटभइये डॉन फजलुर रहमान की मदद ली थी। फजलुर रहमान ने इस मामले में अग्रवाल को फोन करके धमकाया था। शिल्पा के पिता सुरेंद्र शेट्टी और मां सुनंदा के साथ ही फजलुर्रहमान के गुर्गे लगातार अग्रवाल को फोन करके धमकाते रहे और उनसे पैसों की मांग करते रहे।

इन फोन कॉल्स को सूरत पुलिस ने रिकॉर्ड किया था और इस आधार पर शिल्पा के माता-पिता और फजलुर रहमान के खिलाफ एक्सटॉर्शन का केस दर्ज किया गया था। इन लोगों ने अग्रवाल से दो करोड रुपए की मांग की थी।  मामले में शिल्पा शेट्टी के माता पिता के द्वारा शिवनारायण अग्रवाल को किए गए फोन किए टेप न्यूज़ चैनल पर भी चले थे। पुलिस ने फजलुर रहमान के गुर्गे को मुम्बई से गिरफ्तार किया था। शिल्पा के पिता मामले की जानकारी ना होने का बहाना बनाकर जमानत पा गए थे जबकि उस समय शिल्पा अपनी मां के साथ साउथ अफ्रीका और कान फिल्म फेस्टिवल के दौरे पर थीं।

 2019 में हुए आरोप तय

इस मामले में शिल्पा शेट्टी की मां सुनंदा शेट्टी पर अक्टूबर 2019 में मुंबई के प्रथम श्रेणी न्यायाधीश ने आरोप तय किए थे। मामले में सुनंदा शेट्टी के साथ चार अन्य लोगों को भी आरोपी बनाया गया था। ये सभी लोग कोर्ट में पेश हुए थे, जहां पर न्यायाधीश ने इनसे पूछा था कि क्या वे अपने ऊपर लगे आरोप स्वीकार करते हैं? इनके द्वारा इनकार किए जाने पर उन्होंने मामले में चार्ज फ्रेम किए थे। इसमें शिल्पा के पिता सुरेंद्र शेट्टी का नाम इसलिए नहीं था क्योंकि इस समय तक उनका निधन हो चुका था। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!